बिहार कोरोना सहायता योजना ऑनलाइन Registration – लोगों को 1,000 रूपये सहायता / मोबाइल App डाउनलोड

बिहार के मुख्यमंत्री विश्वमंत्री विश्वात्मा योजना (Bihar Corona Assistance Scheme) 2020 में अन्य राज्यों में प्रवासी कामगारों के लिए कोरोना तत्काल सहयाता एप या आपदा प्रबंधन विभाग में ऑनलाइन साइन अप करें। साइट को मिलजाएगा 1,000 रुपये

बिहार सरकार ने 6 अप्रैल 2020 को नई मुख्यमंत्री विश्वात्मा योजना शुरू की थी। इस योजना के तहत राज्य सरकार। COVID-19 (कोरोनावायरस) की नाकेबंदी के कारण अन्य राज्यों के बाहर फंसे हजारों प्रवासी कामगारों को वित्तीय सहायता प्रदान करता है । पहले बिहार सरकार। aapda.bih.nic.in वेबसाइट के माध्यम से इस योजना के लिए प्रवासी कामगारों के ऑनलाइन पंजीकरण/पंजीकरण फार्म मंगाए थे। लोग बिहार कोरोना तत्काल सहस्रता एप या aapda.bih.nic.in के माध्यम से सीएम विश्वेश सहाय योजना 2020 में ऑनलाइन साइन अप भी कर सकते थे।

यूपी, एमपी, बिहार, दिल्ली आदि जैसे अन्य राज्यों में फंसे प्रत्येक बिहारी पात्र हैं। सीएम नीतीश कुमार ने बिहार के मुख्यमंत्री विश्वामित्र सहयोग योजना के तहत 6 अप्रैल को 10.35 करोड़ रुपये की राशि हस्तांतरित की थी। इनमें से प्रत्येक की राशि सीधे 103 मिलियन से अधिक प्रवासी कामगारों के बैंक खातों में स्थानांतरित कर दी गई।

प्रत्येक प्राप्तकर्ता को सीएमआरएफ (मुख्यमंत्री राहत कोष) के प्रत्येक प्राप्तकर्ता को 1के रुपये की सहायता राशि प्रदान की गई थी। मुख्यमंत्री विश्वामित्र योजना के लिए ऑनलाइन पंजीकरण अभी चल रहा है और लोग अभी भी आवेदन या आपदा प्रबंधन स्थल के माध्यम से ऑनलाइन साइन अप कर सकते हैं।

बिहार के मुख्यमंत्री विश्वात्मा योजना 2020 साइन अप ऑनलाइन


कोरोनावायरस के बाद बिहार सरकार। अभी भी 2020 के ऑनलाइन (Eligibility / documents for Bihar Chief Minister Vishwamitra Yojana)फॉर्म के लिए साइन अप करने के लिए मुख्यमंत्री विश्वात्मा योजना को आमंत्रित कर रही है। रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कोरोना तत्काल सहाय योजना मोबाइल एप डाउनलोड कर रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरें। पूरी प्रक्रिया को यहां लिंक के माध्यम से सत्यापित किया जा सकता है:

बिहार विश्वामित्र योजना के ऑनलाइन साइन अप (Online sign up of Bihar Vishwamitra Yojana)

बिहार के मुख्यमंत्री विश्वामित्र योजना के लिए पात्रता/दस्तावेज (Eligibility / documents for Bihar Chief Minister Vishwamitra Yojana)
सीएम विश्वामित्र योजना (Eligibility / documents for Bihar Chief Minister Vishwamitra Yojana) से राज्य के बाहर फंसे निर्माण श्रमिकों और जरूरतमंद लोगों को लाभ मिलेगा और जो सीओवीडी-19 की नाकेबंदी के कारण अपने घर नहीं पहुंच सकते। आवेदकों को सीएम विश्वामित्र सहाय योजना के लिए बिहार कोरोना तत्काल सहायत आवेदन दर्ज करने से पहले पात्रता मापदंड और दस्तावेजों की सूची की जांच करनी होगी:-

  1. पात्रता (Eligibility)
  • आवेदक बिहार का स्थायी निवासी होना जरूरी है।
  • कोरोनावायरस रुकावट (COVID-19) के कारण उसे बिहार राज्य के बाहर फंसा होना चाहिए।
  • आवेदक का बिहार में स्थित किसी भी बैंक में बैंक खाता होना जरूरी है।
  1. दस्तावेज ( Documents)
  • आधार कार्ड की कॉपी
  • आवेदक के नाम पर बैंक खाता

यह ध्यान रखना जरूरी है कि मोबाइल एप में अभ्यर्थियों द्वारा अपलोड की गई फोटो (सेल्फी) आधार कार्ड पर फोटो का मिलान अवश्य करें, ताकि दोनों फोटो तेज हों। एक ही आधार कार्ड नंबर के लिए केवल एक रजिस्ट्रेशन की अनुमति है। आवेदकों को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर में भेजे गए ओटीपी में जरूर डालना होगा। बिहार कोरोना ताटकल सहयाता मोबाइल एप में। सीएम विश्वेश सहाय योजना की राशि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) मोड के जरिए आवेदकों के बैंक खातों में ट्रांसफर की जाएगी।

बिहार के मुख्यमंत्री विश्वेश सहाय योजना लागू (Bihar Chief Minister Vishvesh Sahay Scheme implemented)
बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने 6 अप्रैल 2020 को पटना के सीएम आवास पर कंप्यूटर माउस पर क्लिक कर मुखमंत्री विश्वात्मा योजना का विमोचन किया।

कार्यान्वयन (Implementation)
सीएम माउस के साथ क्लिक करने के कुछ मिनट बाद ही डीबीटी मोड से कुल 1,03,579 कामगारों के बैंक खातों में प्रति प्रवासी कामगार 1,000 रुपये ट्रांसफर किए गए। नतीजतन 6 अप्रैल को कुल 10,35,79,000 रुपये की राशि ट्रांसफर की गई।

प्रगति ( Progress)
आज तक 3.10 लाख से अधिक प्रवासी कामगारों ने आरपीएस से अनुरोध किया था। 1,000 सहायता आपदा प्रबंधन वेबसाइट या कोरोना तत्काल सहयाता एप पर लिंक के माध्यम से की गई थी। 3 अप्रैल को वेबसाइट/एप पर लिंक अपलोड करने के महज 3 दिन में करीब 3.10 लाख प्रवासी कामगारों ने ऑनलाइन हस्ताक्षर किए और विभाग की वेबसाइट पर आवेदन अभी भी आ रहे हैं।

दिल्ली राज्य से अधिकतम 55,264 आवेदन आते हैं, इसके बाद हरियाणा से 41,050, महाराष्ट्र से 30,576 और गुजरात से 25,638 आवेदन आते हैं। लक्षद्वीप के संघ के क्षेत्र से कम से कम 8 अनुरोध प्राप्त हुए थे । सहायता प्राप्त करने वाले कुल 1.03 लाख कामगारों में से अधिकतम। 7281 मूल रूप से सारण जिले के रहने वाले हैं, इसके बाद 6,821 मुज्जफरपुर और 6,792 मधुबनी के रहने वाले हैं। कम से कम 469 लाभार्थी अरवल जिले के हैं।

संदर्भ (References)

ऑनलाइन साइन अप करने के लिए सीधे लिंक की जांच करें – aapda.bih.nic.in

Leave a Reply